श्री दुर्गा स्तुति पाठ | Durga Stuti PDF in Hindi

हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार दुर्गा स्तुति pdf का प्रतिदिन जप देवी दुर्गा को प्रसन्न करने और उनका आशीर्वाद प्राप्त करने का सबसे शक्तिशाली तरीका है। विशेष परिणाम प्राप्त करने के लिए आपको सुबह स्नान करने के बाद और देवी दुर्गा की मूर्ति या तस्वीर के सामने दुर्गा स्तुति का पाठ करना चाहिए।

इस पोस्ट में दिए गए लिंक के द्वारा आप दुर्गा स्तुति इन हिंदी PDF / Chaman Ki Durga Stuti PDF उनलोड कर सकते हैं।

दुर्गा स्तुति / Durga Stuti Book PDF के प्रतिदिन पाठ से मन को शांति मिलती है और आपके जीवन से परेशानी दूर होती है और आप स्वस्थ, धनवान और समृद्ध बनते हैं।

 

दुर्गा स्तुति इन हिंदी PDF | Durga Stuti PDF

जय भगवति देवि नमो वरदे जय पापविनाशिनि बहुफलदे।
जय शुम्भनिशुम्भकपालधरे प्रणमामि तु देवि नरार्तिहरे॥1॥

जय चन्द्रदिवाकरनेत्रधरे जय पावकभूषितवक्त्रवरे।
जय भैरवदेहनिलीनपरे जय अन्धकदैत्यविशोषकरे॥2॥

जय महिषविमर्दिनि शूलकरे जय लोकसमस्तकपापहरे।
जय देवि पितामहविष्णुनते जय भास्करशक्रशिरोवनते॥3॥

जय षण्मुखसायुधईशनुते जय सागरगामिनि शम्भुनुते।
जय दु:खदरिद्रविनाशकरे जय पुत्रकलत्रविवृद्धिकरे॥4॥

जय देवि समस्तशरीरधरे जय नाकविदर्शिनि दु:खहरे।
जय व्याधिविनाशिनि मोक्ष करे जय वाञ्छितदायिनि सिद्धिवरे॥5॥

एतद्व्यासकृतं स्तोत्रं य: पठेन्नियत: शुचि:।
गृहे वा शुद्धभावेन प्रीता भगवती सदा॥6॥

 

श्री दुर्गा स्तुति पाठ PDF | Durga Stuti PDF in Hindi

महर्षि व्यास द्वारा लिखा गया मां दुर्गा का यह स्त्रोत कल्याणकारी है। इसका पाठ करने से मनुष्य हर संकट से दूर रहता है मां भगवती की कृपा हमेशा बनी रहती है। आप नीचे दिए गए डाउनलोड लिंक पर टच करके यह स्तुति डाउनलोड कर सकते हैं –

( यहाँ क्लिक करें )

Leave a Reply 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *