Ganpati Stotra PDF

Ganpati Stotra PDF Download | गणपती स्तोत्र PDF 

If you are searching for Ganpati Stotra PDF Download | गणपती स्तोत्र PDF on the internet then you have clicked on the right article.Below this  article we are providing you a direct link to download Ganpati Stotra PDF Sanskrit | गणपती स्तोत्र PDF .  हिंदू धर्म में किसी भी शुभ काम को करने से पहले भगवान श्री गणेश की पूजा-अर्चना करनी बेहद जरूरी होती है।भगवान श्री गणेश बिघन हर्ता दुःख हर्ता है, श्री गणपति जी की पूजा आराधना करने बाले भक्तो पर श्री गणपति अपना आशीर्वाद सदैव बनाये रखते है एवं उनके जीवन से सारे दुःख सारी पिड़ाये हर लेते है।

 भगवान श्री गणेश बुद्धि दाता, बिघन हर्ता, सुख सम्पति प्रदान करने बाले उदार एवं परम पूजनीय गौरीपुत्र है । 

श्री गणेश स्तोत्र का पाठ भक्तो को प्रतिदिन करना चाहिए, लेकिन यदि प्रतिदिन समय के अभाव में नहीं कर सकते है तो बुधवार के दिन Ganpati Stotra PDF Download | गणपती स्तोत्र PDF पाठ जरूर करना चाहिए | भक्तों को स्नान के बाद गणेश जी के मंदिर में जाकर गणेश जी का प्रिय  मीठे का भोग लगाकर, दूब, पुष्प, फल अर्पित करना चाहिए और इस स्तोत्र का पाठ करने के बाद गणेश जी की आरती करनी चाहिए और भगवान् से अपनी कामना को पूर्ण करने की प्रार्थना करनी चाहिए |

Ganpati Stotra PDF Download | गणपती स्तोत्र PDF Details :-

PDF Name गणपती स्तोत्र PDF |Ganpati Stotra PDF Download
No. of Pages 3
PDF Size0.69 MB
LanguageSanskrit
CategoryReligion & Spirituality
Sourcequickpdf.in
Download LinkAvailable 
Downloads24

Ganpati Stotra Sanskrit PDF lyrics :-

प्रणम्य शिरसा देवं गौरीपुत्रं विनायकम् ।

भक्तावासं स्मरेन्नित्यं आयुःकामार्थसिद्धये ॥ १॥

 प्रथमं वक्रतुण्डं च एकदन्तं द्वितीयकम् ।

तृतीयं कृष्णपिङ्गाक्षं गजवक्त्रं चतुर्थकम् ॥ २॥

 लम्बोदरं पञ्चमं च षष्ठं विकटमेव च ।

सप्तमं विघ्नराजेन्द्रं धूम्रवर्णं तथाष्टमम् ॥ ३॥

 नवमं भालचन्द्रं च दशमं तु विनायकम् ।

एकादशं गणपतिं द्वादशं तु गजाननम् ॥ ४॥

 द्वादशैतानि नामानि त्रिसंध्यं यः पठेन्नरः ।

न च विघ्नभयं तस्य सर्वसिद्धिकरः प्रभुः ॥ ५॥

 विद्यार्थी लभते विद्यां धनार्थी लभते धनम् ।

पुत्रार्थी लभते पुत्रान्मोक्षार्थी लभते गतिम् ॥ ६॥

 जपेद्गणपतिस्तोत्रं षड्भिर्मासैः फलं लभेत् ।

संवत्सरेण सिद्धिं च लभते नात्र संशयः ॥ ७॥

 अष्टेभ्यो ब्राह्मणेभ्यश्च लिखित्वा यः समर्पयेत् ।

तस्य विद्या भवेत्सर्वा गणेशस्य प्रसादतः ॥ ८॥

Ganpati Stotra Benefits :-

  • भगवान गणेश की अनुमति एक व्यक्ति के जीवन को स्वस्थ और खुशहाल बनाती है।
  • व्यक्ति सभी क्लेशों पर विजय पाने में बुद्धिमान होता है।
  • भगवान गणेश के पास अपार ज्ञान है और वे सभी परेशानियों को दूर करते हैं।
  • किसी भी कार्य में सफलता पाने के लिए नियमित इस स्तोत्र का पथ करे तो सफलता अवश्य मिलती है।
  • हिंदू धार्मिक मान्यता में, किसी भी कार्य की सिद्धि के लिए भगवान गणेश की पूजा की जाती है, इसी कारण गणेश जी की पूजा सर्व प्रथम होती है।

Shri Ganpati Stotra English Lyrics :-

Om Shri Ganeshay Namah

Pranamya Shirsa Devam Gauriputram Vinayakam |

Bhaktavasam Smaren Nityamaayuhkamartha Siddhaye ||

Prathamam Vakratundam Cha Ekdantam Dwitiyakam |

Trutiyam Krishna Pingaksham Gajvaktram Chaturthakam ||

Lambodaram Panchamam Cha Shastham Vikatameva Cha |

Saptamam Vighnarajendram Cha Dhoomravarnam Tathaashtamam ||

Navamam Bhalchandram Cha Dashamam Tu Vinayakam |

Ekadasham Ganpatim Dwadasham Tu Gajananam ||

Dwadashaitani Namani Trisandhyam Yah Pathennarah |

Na Cha Vighnabhyam Tasya Sarvasiddhikaram Prabho ||

Vidyarthi Labhte Vidyam Dhanarthi Labhte Dhanam |

Putrarthi Labhte Putram Moksharthi Labhte Gatim ||

Japet Ganpati Stotram Shadbhimasaih Phalam Labhet ||

Samvatsaren Siddhi Cha Labhte Naatra Sanshayah |

Ashtabhyo Brahmanebhyascha Likhitwayah Samarpayet ||

Tasya Vidya Bhavetsarva Ganeshasya Prasadatah |

Ganpati Ji ki Aarti Lyrics :-

जय गणेश जय गणेश,

जय गणेश देवा ।

माता जाकी पार्वती

पिता महादेवा ॥

एक दंत दयावंत,

चार भुजा धारी ।

माथे सिंदूर सोहे

मूसे की सवारी ॥

जय गणेश जय गणेश,

जय गणेश देवा ।

माता जाकी पार्वती

पिता महादेवा ॥

पान चढ़े फल चढ़े,

और चढ़े मेवा ।

लड्डुअन का भोग लगे

संत करें सेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,

जय गणेश देवा ।

माता जाकी पार्वती

पिता महादेवा ॥

अंधन को आंख देत,

कोढ़िन को काया ।

बांझन को पुत्र देत

निर्धन को माया ॥

जय गणेश जय गणेश,

जय गणेश देवा ।

माता जाकी पार्वती

पिता महादेवा ॥

‘सूर’ श्याम शरण आए,

सफल कीजे सेवा ।

माता जाकी पार्वती

पिता महादेवा ॥

जय गणेश जय गणेश,

जय गणेश देवा ।

माता जाकी पार्वती

पिता महादेवा ॥

दीनन की लाज रखो,

शंभु सुतकारी ।

कामना को पूर्ण करो

जाऊं बलिहारी ॥

जय गणेश जय गणेश,

जय गणेश देवा ।

माता जाकी पार्वती

पिता महादेवा ॥

How to Download Ganpati Stotra PDF ?

If you want to download the Ganpati Stotra PDF | गणपती स्तोत्र PDF Sanskrit then you just need to click on the Download PDF button given below .

Leave a Reply 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *