कुबेर भगवान की आरती | Kuber Aarti in Hindi PDF Download

Kubera Ashtottara PDF in Sanskrit

यदि आप कुबेर भगवान की आरती PDF / Kuber Aarti Hindi PDF इंटरनेट पर ढूंढ रहे हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए ही है। इस आर्टिकल के माध्यम से आप कुबेर भगवान की सम्पूर्ण आरती PDF आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

जैसा कि आप जानते ही होंगे कि कुबेर जी धन के दाता हैं और अगर श्रद्धापूर्वक उनकी पूजा की जाये तो वह शीघ्र ही प्रसन्न हो जाते हैं एवं अपने भक्तों की जिंदगी से सारे दुख पल में ही हर लेते हैं। सनातन हिन्दू धर्म में धन की प्राप्ति के लिए माता लक्ष्मी और कुबेर जी की पूजा की जाती है। कुबेर जी को यक्षों का राजा एवं उत्तर दिशा का दिकपाल कहा जाता है।

यदि आप धन की समस्या से पीड़ित एवं दुखी हैं और इस परेशानी से शीघ्र ही छुटकारा पाना चाहते हैं तो कुबेर जी एवं लक्ष्मी माता की श्रद्धापूर्वक पूजा अवश्य करें। पूजा के बाद आरती करने का विशेष विधान है क्योंकि आरती करने से देवता अति प्रसन्न होते हैं इसीलिए पूजा करने के बाद आरती अवश्य करनी चाहिए।

 

श्री कुबेर भगवान की आरती | Shri Kuber Bhagwan Ki Aarti PDF Details

 

श्री कुबेर जी की आरती PDF / Shri Kuber Ji Ki Aarti PDF

ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे,स्वामी जै यक्ष जै यक्ष कुबेर हरे।

शरण पड़े भगतों के,भण्डार कुबेर भरे॥

ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥

शिव भक्तों में भक्त कुबेर बड़े,स्वामी भक्त कुबेर बड़े।

दैत्य दानव मानव से,कई-कई युद्ध लड़े॥

ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥

स्वर्ण सिंहासन बैठे,सिर पर छत्र फिरे, स्वामी सिर पर छत्र फिरे।

योगिनी मंगल गावैं,सब जय जय कार करैं॥

ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥

गदा त्रिशूल हाथ में,शस्त्र बहुत धरे, स्वामी शस्त्र बहुत धरे।

दुख भय संकट मोचन,धनुष टंकार करें॥

ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥

भांति भांति के व्यंजन बहुत बने,स्वामी व्यंजन बहुत बने।

मोहन भोग लगावैं,साथ में उड़द चने॥

ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥

बल बुद्धि विद्या दाता,हम तेरी शरण पड़े, स्वामी हम तेरी शरण पड़े

अपने भक्त जनों के,सारे काम संवारे॥

ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥

मुकुट मणी की शोभा,मोतियन हार गले, स्वामी मोतियन हार गले।

अगर कपूर की बाती,घी की जोत जले॥

ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥

यक्ष कुबेर जी की आरती,जो कोई नर गावे, स्वामी जो कोई नर गावे।

कहत प्रेमपाल स्वामी,मनवांछित फल पावे॥

ऊँ जै यक्ष कुबेर हरे…॥

 

कुबेर आरती करने के लाभ / Benefits of Reciting Kuber Aarti

  • यह आरती करने से कुबेर भगवान प्रसन्न होकर भक्तों पर अपनी कृपा करते हैं।
  • यदि आप धन – संबंधी समस्या से पीड़ित है तो कुबेर आरती करने से विशेष लाभ मिलता है।
  • यह करने से व्यक्ति के जीवन में धन के साथ – साथ वैभव का भी आगमन होता है।
  • ऐसा करने से कुबेर जी के साथ ही भगवान शिव की भी कृपा होती है क्योंकि कुबेर जी उनके भक्त हैं।
  • जीवन में सुख – शांति एवं समृद्धि पाने के लिए प्रतिदिन इस आरती को करना चाहिए।
  • घर में चारों ओर खुशहाल वातावरण रहता है।
  • कार्यालय एवं व्यवसाय संबंधी समस्याओं के लिए इस आरती का श्रद्धापूर्वक गायन करना चाहिए।

कुबेर भगवान की आरती | Kuber Aarti in Hindi PDF Download करने के लिए कृपया नीचे दिये हुए लिंक पर क्लिक करें –

Leave a Reply 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *