लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित PDF | Lakshmi Puja Vidhi Hindi PDF

Lakshmi Puja Vidhi PDF

यदि आप लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित PDF इंटरनेट पर ढूंढ रहे हैं, तो इस आर्टिकल पर आपका स्वागत है। यहाँ आप लक्ष्मी जी की विस्तृत पूजन विधि के सन्दर्भ में जान सकते हैं। जैसा की आप सभी जानते ही होंगे कि प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में माता लक्ष्मी का कितना विशेष महत्व है। माता लक्ष्मी के बिना इस भौतिक जीवन को व्यतीत करना अत्यधिक कठिन है। यदि आप भी अपने जीवन में माता लक्ष्मी की विशेष कृपा आकर्षित करना चाहते हैं तथा अपने जीवन में समस्त प्रकार के सांसारिक सुखों का आनंद प्राप्त करना चाहते हैं तो देवी लक्ष्मी का पूजन अवश्य करें। यदि आप पूर्ण वैदिक रूप से श्री लक्ष्मी देवी का पूजन करना चाहते हैं तो नीचे दिए हुए डाउनलोड लिंक पर जाकर लक्ष्मी पूजन विधि मंत्र सहित PDF फ्री में डाउनलोड करें।

दीपावली लक्ष्मी पूजन विधि / Diwali Puja Vidhi in Hindi PDF Free Download

हिन्दू धर्म में दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजा का बहुत अधिक महत्व माना गया है। दिवाली एक ऐसा पर्व है जो भारत सहित सम्पूर्ण विश्व में अत्यंत हर्षोल्लास से मनाया जाता है। माना जाता है कि दिवाली के दिन श्री लक्ष्मी जी का पूजन करने से व्यक्ति के घर में वर्ष पर्यन्त माता लक्ष्मी का वास रहता है। माता लक्ष्मी का वास होने के कारन घर में धन – संपत्ति की कोई कमी नहीं होती तथा सभी कुटुंबजन प्रसन्न रहते हैं। हमने नीचे दिए हुए डाउनलोड लिंक पर जाकर दिवाली पूजन विधि फ्री में डाउनलोड करें तथा विधि के अनुसार अपने घर पर देवी लक्ष्मी का पूजन करें। हम आशा करते हैं इस पूजन से आपके घर में लक्ष्मी जी की कृपा बनी रहे।

 

लक्ष्मी पूजन मंत्र PDF / Lakshmi Puja Mantra in Hindi PDF

ॐ धनाय नम:

इस मंत्र का जाप करने से धन लाभ की प्राप्ति होती है। इसका शुक्रवार के दिन कमल गट्टे की माला के साथ करना चाहिए।

ऊं ह्रीं त्रिं हुं फट

किसी भी कार्य में सफलता के लिए इस मंत्र का जाप करना चाहिए। इससे मां की कृपा हमेशा बनी रहती है।

धनाय नमो नम:

देवी मां के इस मंत्र का रोजाना 11 बार जाप करना चाहिए। इससे व्यक्ति की धन संबंधित परेशानियां दूर होती हैं।

ओम लक्ष्मी नम:

इस मंत्र का अगर जाप किया जाए तो व्यक्ति के घर में लक्ष्मी का वास होता है। साथ ही घर में कभी अन्न और धन की कमी भी नहीं होती है। इस मंत्र का जाप कुशा के आसन पर ही करना चाहिए।

लक्ष्मी नारायण नम:

इस मंत्र का जाप करने से दाम्पत्य जीवन में सुख-समृद्धि बनी रहती है। इससे व्यक्ति की तरक्की भी होती है। साथ ही पति-पत्नी के बीच का संबंध भी अच्छा बना रहता है।

ॐ ह्रीं ह्रीं श्री लक्ष्मी वासुदेवाय नम:

इस मंत्र का जाप किसी भी शुभ कार्य करने से पहले करें। अगर ऐसा किया जाए तो व्यक्ति का काम बन जाएगा।

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्री सिद्ध लक्ष्म्यै नम:

इस मंत्र का जाप करने से व्यक्ति को सफलता प्राप्त होती है। मां लक्ष्मी की चांदी या अष्ट धातु की मूर्ति की पूजा करनी चाहिए।

ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्री सिद्ध लक्ष्म्यै नम:

पद्मानने पद्म पद्माक्ष्मी पद्म संभवे तन्मे भजसि पद्माक्षि येन सौख्यं लभाम्यहम्।

मां लक्ष्मी के इस मंत्र का जाप 108 बार करें। इसका जाप स्फटिक की माला के साथ करें। इससे घर में हमेशा अन्न और धन बना रहता है।

लक्ष्मी पूजन का मुहूर्त 2021 / Lakshmi Puja Muhurt Time 2021

लक्ष्मी पूजा बृहस्पतिवार, नवम्बर 4, 2021 पर
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त – 06:09 पी एम से 08:04 पी एम
अवधि – 01 घण्टा 56 मिनट्स
प्रदोष काल – 05:34 पी एम से 08:10 पी एम
वृषभ काल – 06:09 पी एम से 08:04 पी एम
अमावस्या तिथि प्रारम्भ – नवम्बर 04, 2021 को 06:03 ए एम बजे
अमावस्या तिथि समाप्त – नवम्बर 05, 2021 को 02:44 ए एम बजे

Leave a Reply to Govind Bhardwaj Cancel reply1

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Govind Bhardwaj

Govind Bhardwaj

lakshmi puja vidhi pdf download krne ka bahut accha trika batya hai aapne. Dhanywaad